ads

ईपीसीए ने जारी की एडवाइजरी आने वाले दिनों में और खराब होगी शहर की आबोहवा

प्रशासन की लापरवाही से शहर की आबोहवा दिनोंदिन खराब होती जा रही है। शनिवार को शहर का एयर क्वालिटी एंडेक्स 368 पहुंच गया। फरीदाबाद देश का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर बन गया। पर्यावरण प्रदूषण सुरक्षा एवं नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) ने फरीदाबाद, गुडगांव समेत दिल्ली एनसीआर के लिए एडवाइजरी जारी कर प्रदूषण स्तर और बढऩे की संभावना जताई है।

प्राधिकरण ने औद्योगिक क्षेत्रों और निर्माण स्थलों पर सभी जरूरी इंतजाम करने के आदेश जिला प्रशासन को दिए हैं। दरअसल प्रदूषण स्तर बढ़ने का प्रमुख कारण चोरी छिपे कूड़े कचरे में आग लगाना व नेशनल हाइवे से लेकर शहर की प्रमुख सड़कों पर जमी धूल की सफाई न होना है। रही सही कसर त्यौहारी सीजन में कुछ लोगों द्वारा पटाखे फोड़ना है। ईपीसीए ने हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को मैसेज भेजकर अपने-अपने क्षेत्र में प्रदूषण बढ़ने से रोकने के लिए सभी जरूरी उपाय करने के आदेश दिए हैं। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों पर नजर डालें तो शनिवार सुबह 10 बजे शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स 384 तक दर्ज किया गया। शाम का इसका स्तर 368 तक आकर टिक गया।

सबसे अधिक खराब स्थिति एनआईटी क्षेत्र की रही। न्यूटाउन औद्योगिक क्षेत्रों में एचपीसीबी के लगे प्रदूषण मापक यंत्रों के अनुसार यहां का एक्यूआई 381 तक रिकार्ड किया गया। जबकि सेक्टर-30 में 370, सेक्टर 11 में 377 और सेक्टर-16ए में 344 दर्ज किया गया।

सीपीसीबी के आंकड़ों के मुताबिक शनिवार को फरीदाबाद शहर देश का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर बन गया। पहले स्थान पर देहरादून था। इसके अलावा दिल्ली एनसीआर के शहरों की भी हवा खराब रही। दिल्ली का जहां 342 दर्ज किया गया, वहीं गाजियाबाद का स्तर 347, ग्रेटर नोएडा का 356, नोएडा का 342, गुडग़ांव का 325 रहा।
औद्योगिक सेक्टर व निर्माण स्थलों पर सुरक्षा के इंतजाम करने के आदेश

नहीं हो पा रहा पानी का छिडक़ाव, अफसर कर रहे आराम: शनिवार और रविवार को अवकाश होने के कारण कोई भी अधिकारी व कर्मचारी फील्ड में नहीं आना चाहता। यही कारण है कि शनिवार को शहर में कहीं पानी का छिड़काव होते नजर नहीं आया। नगर निगम और अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी व कर्मचारी आराम करते रहे।

औद्योगिक संस्थान करें सुरक्षा के उपाय: ईपीसीए की एडवाइजरी जारी होने के बाद डीसी यशपाल यादव ने सभी औद्योगिक संगठनों और उद्यमियों से प्रदूषण को रोकने के लिए सभी प्रकार के जरूरी उपाय करने के आदेश दिए हैं। इसके अलावा निर्माण स्थलों पर प्रॉपर पानी का छिड़काव कर काम कराने को कहा है। एचपीसीबी की टीम इनकी मॉनिटरिंग करेगी। उल्लंघन करते पाए जाने पर जुर्माना भी किया जाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
EPCA released advisory in the coming days, the city's climate will worsen


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31EuVZu

Post a Comment

0 Comments